Responsive

Child Development Practice Set in Hindi PDF

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

UPTET Child Development Practice Set , CTET Child Development Practice Set, HTET Child Development Practice Set, आदि टीचर भर्ती परीक्षा की तैयारी करने के लिए विशेष Child Development Practice Set in Hindi PDF के माध्यम से लेकर आए है| जो आपके परीक्षा की तैयारी करने के लिए महत्वपूर्ण UPTET Practice Set PDF में है| जिसे आप निचे दिए link के माध्यम से प्राप्त कर सकते है|

नोट : दोस्तों हम आप सभी को बता दे की, सबसे पहले हमारी टीम आपको What is Child Development (बाल विकास क्या है), Need of Child Development (बाल विकास की आवश्यकता) और scope of child development in hindi (बाल विकास के क्षेत्र) क्या है इसे सम्बंधित जानकारी देगे !! उसके बाद Child Development Practice Set PDF Provide कराएगे.

Responsive



बाल विकास (Child Development) 

Meaning of Child Development :  बाल विकास से तात्पर्य बालकों के विकास से है| बाल विकास का अध्ययन करने के लिए विकासात्मक मनोविज्ञान की एक अलग शाखा बनाई गई जो बालकों के व्यवहार का अध्ययन कर गर्व स्थान से लेकर मृत्यु स्थान तक करती है | परंतु वर्तमान समय में इसे बाल विकास Child Development में परिवर्तन कर दिया गया क्योंकि बाल मनोविज्ञान मैं केवल बालकों के व्यवहार का अध्ययन किया जाता है| जबकि बाल विकास के अंतर्गत उन सभी तत्वों का अध्ययन किया जाता है जो बालकों के व्यवहार को एक निश्चित दिशा प्रदान कर विकास में सहायता प्रदान करते हैं|

Child Development Practice Set in Hindi PDF Download

इनको भी जरुर पढ़े :-

बाल विकास की आवश्यकता (Need of Child Development)

यह सदैव जिज्ञासा का विषय रहता है कि अध्यापन विकास में पढ़ने-पढ़ाने की तकनीकी के अलावा बाल मनोविज्ञान का अध्यन क्यों किया जाता रहता है बाल मनोविज्ञान का अध्यन शिक्षक करता है| शिक्षक बाल मनोविज्ञान का अध्ययन इसलिए करते हैं कि उसे यह पता चल सके कि जिसके लिए वह संपूर्ण अध्ययन अध्यव्यवस्था कर रहा है , वह कितने ग्रहण कर रहा है और कितना ग्रहण करने की क्षमता रखता है ताकि उसकी क्षमताओं ज्ञान उपयोग की दक्षता के अनुसार अध्ययन कर सकें|

बाल विकास अध्यापकों के लिए निम्न प्रकार के आ सकता :-

  1. बालों को किन रचना की जानकारी प्राप्त करने हेतु .
  2. बाल विकास प्रक्रिया को समझाने में सहायक .
  3. बाल निर्देशन व परामर्श में सहायक.
  4. बालकों के प्रति भविष्यवाणी करने में सहायक .
  5. बालक व्यवहार का मार्गकरण व नियंत्रण में सहायक.

Responsive


बाल विकास के क्षेत्र (Scope of Child Development)

बाल विकास का क्षेत्र अत्यंत ही विस्तृत और व्यापक है| बालक के विकास के सभी आयामों,स्वरूपों, समानताओ, शारीरिक व मानसिक परिवर्तन तथा उन को प्रभावित करने वाले तत्व :
वर्तमान समय में यह इतना अधिक महत्वपूर्ण विषय हो गया है कि दिनोंदिन इसका विस्तार बढ़ता जा रहा है|

बाल विकास के विषय क्षेत्र के अंतर्गत निम्नलिखित बातों को सम्मिलित किया जाता है :-

  1. बाल विकास की विभिन्न अवस्थाओं को अध्ययन करना
  2. बाल विकास की विभिन्न पहलुओं का अध्ययन
  3. बालकों की विभिन्न असमानताओं का अध्ययन करना
  4. मानसिक स्वास्थ्य विज्ञान का अध्ययन करना
  5. बालको की विभिन्न मानसिक प्रक्रियाओ का अध्ययन करना

UPTET Exam Pattern 2018-19

Section

Number of Questions

Total Marks

Child Development, Learning & Pedagogy

30 Questions 30 Marks
1st Language (Hindi)

30 Questions

30 Marks

2nd Language (Any one from English, Urdu & Sanskrit)

30 Questions 30 Marks
Mathematics 30 Questions

30 Marks

Environmental Studies

30 Questions

30 Marks

Child Development Practice Set PDF Download

बाल विकास Practice Set PDF को आप सभी प्रतियोगी विद्यार्थी निचे दिए गए डाउनलोड button पर click करके Child Development Practice Set in Hindi PDF में प्राप्त कर सकते है, और अपनी तैयारी अच्छे से कर सकते है|



Download Child Development Practice Set PDF

अन्य नोट्स :-

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: कृपया उचित स्थान पर Click करे !!