कंप्यूटर इंजीनियर ( Computer Engineering ) कैसे बने ? और इसके फायदे

Computer Engineering course details in hindi

0

Computer Engineering Kaise bane, Computer Engineering course details hindi ; कंप्यूटर इंजीनियर कैसे बने, कंप्यूटर इंजीनियर बनने के क्या क्या फायदे, आज के इस लेख में हम आपको कंप्यूटर इंजीनियर के बारे में बताएंगे, कंप्यूटर इंजीनियरिंग एक कंप्यूटर की फिल्ड है। जिसमे आप कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर और कंप्यूटर के हार्डवेयर के बारे में जानकारी प्राप्त करते है। कंप्यूटर इंजीनियरिंग करियर के लिए एक अच्छा विकल्प है, आइए इस लेख के माध्यम से जानते है :-

Computer Engineering Kaise bane :-

कंप्यूटर इंजीनियर ( Computer Engineering ) कैसे बने ? और इसके फायदे
कंप्यूटर इंजीनियर कैसे बने

कंप्यूटर इंजीनियरिंग एक इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग (Electronic Engineering) और कंप्यूटर साइंस (Computer Science) का कॉम्बिनेशन होता है जिसका फोकस कंप्यूटर के हार्डवेयर और सॉफ्टवेर पार्ट को डिजाईन करने में इस्तेमाल किया जाता है अगर आपको एक कंप्यूटर बनाना है तो ऐसे में आपको इलेक्ट्रिकल और कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग का ज्ञान होना बेहद जरुरी है इसके अलावा और कई सारी चीज़े होती है एक कंप्यूटर इंजीनियर बन्ने के लिए आइये जान लेते है की कैसे आप एक कंप्यूटर इंजीनियर बन सकते है |

इसे पढ़िए :-

Computer Engineering kya hai ?

कंप्यूटर इंजीनियरिंग एक ऐसी फिल्ड है। जिसमे आपको कम्प्यूटर के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बारे में जानकारी दी जाती है एक कंप्यूटर इंजीनियर कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर पार्ट को बनाने व् डिज़ाइन और डेवलप करने का कार्य करता है।

एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर से मिलकर बना होता है। कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपको या तो सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग या हार्डवेयर इंजीनियरिंग में स्पेशलाइजेशन करना होता है।

हार्डवेयर इंजीनियरिंग ( Hardware Engineering )

हार्डवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको कंप्यूटर के हार्डवेयर के बारे में जानकारी होना अति आवश्यक है। कंप्यूटर के हार्डवेयर पार्ट वे होते है जिन्हे हम छू सकते है जैसे कीबोर्ड, माउस, मॉनिटर, CPU आदि।हार्डवेयर इंजीनियरिंग के अंतर्गत सभी हार्डवेयर पार्ट को बनाना या डिज़ाइन करना, डेवलप करना और टेस्ट करना आदि कार्य आते है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग ( Software Engineering )

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर के बारे में जानकारी होना अति आवश्यक है। सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के अंदर चलने वाली एप्लीकेशन व् फंक्शन होते है। सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के अंतर्गत आपको सॉफ्टवेयर को डेवलप करने, डिज़ाइन करने व् टेस्ट करना और साथ ही साथ वेबसाइट को बनाना व् डेवलप करना आदि कार्य आते है।

कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए योग्यता। ( Computer Engineering Eligibility ) 

यदि आप कम्प्यूटर इंजीनियर की डिग्री प्राप्त करना चाहते है। तो आप 12वी कक्षा में 60% अंकों के साथ पास होने चाहिए। और साथ ही साइंस सब्जेक्ट में मैथ के साथ। कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए प्रकिर्या, निचे दिए गए लेख में पढ़िए :-

12वी कक्षा पास करे।

यदि आप कम्प्यूटर इंजीनियर बनना चाहते है। तो सबसे पहले आपको 12वी कक्षा पास होगी। और वो भी साइंस और मैथ के साथ। और साथ आप 12वी कक्षा में 60% अंकों के साथ पास होने चाहिए।

एंट्रेस एग्ज़ाम क्लियर करे। (Computer Engineer Entrance Exam )

12वी कक्षा को पूरा कर लेते है। तो आपको कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए एंट्रेस एग्ज़ाम के लिए अप्लाई करना होगा। और उसे अच्छे अंकों के साथ क्लियर करना होगा। आपका कॉलेज आपके एंट्रेस एग्ज़ाम के अंकों पर निर्भर करता है। जितने अच्छे आप के एंट्रेस एग्ज़ाम में अंक होंगे आपको एडमिशन के लिए उतना अच्छा कॉलेज दिया जायगा। कुछ इंडियन एग्ज़ाम जैसे IIT, AIEEE और B.Tech आदि।

  • इन एंट्रेस एग्ज़ाम को क्लियर कर लेने के बाद काउंसलिंग की जायगी। जिसके बाद आपको कॉलेज में एडमिशन दिया जायगा।
  • जब आप एंट्रेस एग्ज़ाम पूरा कर लेते है। और काउंसलिंग के बाद किसी अच्छे कॉलेज का चुनाव कर एडमिशन ले लेते है। तो आप कंप्यूटर इंजीनियर की पढ़ाई पूरी कीजिए। इसमें आप बीटेक(B.Tech) कर सकते है। इसकी Duration 4 वर्ष की होती है।

Master Degree ( मास्टर डिग्री)

ये कोर्स कर लेने के बाद आप एक कंप्यूटर इंजीनियर बन जाते है। और यदि आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग से मास्टर डिग्री करना चाहते है। तो आप बीटेक(B.Tech) के बाद एम टेक (M.Tech) कर सकते है। इसके बाद आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग स्पेशलिस्ट बन जाएँगे। इसकी Duration 2 वर्ष की होती है।

पीएचडी PHD Course

अगर यदि आप चाहते है तो आप एम टेक (M.Tech) के बाद एक और हाइयर एजुकेशन पीएचडी PHD भी क्र सकते है। इसमें आपको कंप्यूटर इंजीनियरिंग के एडवांस पढ़ाई कराई जाती है।

स्कोप एंड करियर।

आज के दौर में हर किसी सेक्टर, इंडस्ट्री आदि में कम्प्यूटर की ज़रुरत होती ही है। तो इस हिसाब से कंप्यूटर इंजीनियर की मांग कई सारे अन्य सेक्टर में होती है। चाहे सरकारी हो या प्राइवेट। और ऐसी बहुत सारी मल्टीनेशनल कम्पनी है जहाँ पर कंप्यूटर इंजीनियर की काफी मांग है।

Example :-

  • Google
  • Facebook
  • Amazon
  • yahoo
  • Flipkart
  • Microsoft
  • Apple

इसे पढ़िए :-

Computer Engineering Salary :-

कंप्यूटर इंजीनियर को मिलने वाली सैलरी उसके द्वारा कार्यरत स्थान और कम्पनी पर निर्भर करती है। किसी छोटी कम्पनी में भी एक कंप्यूटर इंजीनियर की सैलरी 30 हज़ार से लेकर 40 हज़ार प्रति माह के आस पास हो सकती है। और ये सैलरी फिक्स नहीं है। यह सैलरी कम या ज्यादा भी हो सकती है। और बड़ी कंपनी में एक कंप्यूटर इंजीनियर की सैलरी लाखों में हो सकती है।

Note ; आशा करते है, की कंप्यूटर इंजीनियर ( Computer Engineering ) कैसे बने ? और इसके फायदे , के बारे में अच्छे से समझ गए होगे | अगर आपको Computer विषय से सम्बंधित किसी भी प्रकार की जानकारी चाहिए तो हमें comment करके बताए |

हमसे जुड़ें, हमें फॉलो करे
  • Telegram पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook ग्रुप ज्वाइन करे – Click Here

हमें फॉलो करे सोशल मीडिया साईट पर, और प्रति-दिन फ्री में करंट आफिर्स, नोट्स पीडीऍफ़ प्राप्त करे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: कृपया उचित स्थान पर Click करे !!