Diwali Essay in Hindi ; दिवाली क्यों मनाते हैं? दिवाली 2020 निबंध इन हिन्दी.

diwali 2020 festival in hindi

0

Diwali 2020, Diwali essay in Hindi: दीवाली भारत के एक प्रमुख हिंदू त्योहार है जिसे “दीपावली” भी कहा जाता है। आपको बता दें कि यह त्योहार पूरे देश में हिंदुओं द्वारा उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाता है। इस त्यौहार को मानाने के पीछे हिंदू धर्म के लोगों का मानना है कि इस दिन भगवान राम 14 साल का वनवास काट करने के बाद आयोध्या वापस आए थे और उनका स्वागत करने के लिए अयोध्या के लोगों ने छोटे मिट्टी के तेल के दीयों द्वारा सड़कों और घरों को सजाया था। इसलिए आज इस त्यौहार को रोशनी के त्योहार के रूप में मनाते हैं।

दीवाली के खास मौके पर घरों को विभिन्न रंगों और आकारों की रोशनी से सजाया जाता है। इस दिन लोग अपने घर के सामने मिट्टी के दीपक और लाइट ली सीरिज लगाते हैं। इसके साथ सभी लोग अपने नए कपड़े पहनते हैं और पटाखेआतिशबाजी जलाते हैं।

परिचय (Deepawali in Hindi):-

दिवाली का त्यौहार हर साल अक्टूबर के मध्य और नवंबर के मध्य के बीच आता है। यह हिंदू धर्म के लोगों का एक प्रमुख त्योहर है। दिवाली को हर साल भारत के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग तरह से मनाया जाता है। इस दिन लोग अपने घर को दिये, मोमबत्ती और लाइट के साथ रोशन करते हैं। भगवान लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा करना diwali के सबसे प्रमुख अनुष्ठानों में से एक है।

इसे पढ़े :-

दिवाली क्यों मनाते हैं (Diwali essay in Hindi)

Diwali Essay in Hindi ; दिवाली क्यों मनाते हैं? दिवाली 2020 निबंध इन हिन्दी.

दिवाली पूरे भारत में बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है जिसके पीछे सबसे बड़ा कारण यह है कि इस दिन भगवान राम अयोध्या लौटे थे। इसके साथ ही अलग-अलग जगह पर diwali मानाने के पीछे कई अन्य लोककथाएं और पौराणिक कहानियां जुड़ी हुई हैं। यहाँ कुछ कारणों से इस त्योहार को मनाया जाता है।

रोशनी का त्योहार :

Diwali के दिन लोग मिटटी के दिए खरीदते हैं और अपने घर के हर हिस्से को रोशन करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि कि भगवान राम, लक्ष्मण और सीता के स्वागत के लिए पूरे अयोध्या नगरी को वहां के लोगों ने दीपों से रोशन किया था। लोग आज भी इस अनुष्ठान का पालन करते और अपन घर को तरह -तरह की रोशनी वाली चीजें जैसे मोमबत्तियां, दीपक और सजावटी लाइटें से सजाते हैं। घर की लड़कियां इस दिन सुंदर रंगोली बनती हैं और इसे खूबसूरत बनाने के लिए इनके बीचे दिए भी रखे जाते हैं।

देवी लक्ष्मी की पूजा :

दिवाली केदिन लोग नए कपड़े पहन तैयार होकर देवी लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा करते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस दिन देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा करने से धन, समृद्धि और सौभाग्य प्राप्त होता है। इसलिए सभी लोग इस दिन लक्ष्मी और गणेश की पूजा करते हैं। पूजा करने के बाद सभी लोग पटाखे जलाते हैं और बहुत मस्ती करते हैं।

उपहारों का आदान-प्रदान (diwali festival in hindi) :-

उपहारों और मिठाइयों का आदान-प्रदान करना दिवाली के सबसे प्रमुख अनुष्ठानों में से एक है। इस दिन लोग अपने सहयोगियों, पड़ोसियों, रिश्तेदारों और दोस्तों के घर उनसे मिलने जाते हैं और अपने रिश्ते को मजबूत करने के लिए उन्हें उपहारों और मिठाइयां भेंट करते हैं। हमारे हिंदू संस्कृति हमें एक-दूसरे के साथ प्रेम पूर्वक रहना सिखाती है। हिंदू धर्म के सबसे प्रमुख त्योहारों में से एक diwali भी भाईचारे और एकता की भावना को बढ़ावा देती है। पहले के समय में लोग ड्राई फ्रूट की मिठाइयों को अपने रिश्तेदारों को उपहार में देते थे लेकिन आजकल लोग अनोखे और इनोवेटिव गिफ्ट आइटम की तलाश में रहते हैं। diwali के के खास मौके पर बाजार में कई प्रकार के दिवाली उपहार उपलब्ध रहते हैं।

निष्कर्ष :

diwali प्रेम का त्योहार है जो हमको अपने परिवार और प्रिय लोगों के करीब लाता है। सभी उम्र के लोग हर साल दिवाली आने का इंतजार करते हैं और इसके बड़ी धूम-धाम के साथ मानते हैं। इस त्योहर को मानाने के लिए परिवार का हर सदस्य बढ़-चढ़कर भाग लेता है। इस उत्सव के दिन लोग सभी धार्मिक अनुष्ठानों का पालन करते हैं जो दिवाली का एक प्रमुख हिस्सा है और यह अपनी नई पीढ़ी को भी सिखाते हैं।

अन्य त्यौहार पर निबंध पढ़े :-

हमसे जुड़ें, हमें फॉलो करे
  • Telegram पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook ग्रुप ज्वाइन करे – Click Here

हमें फॉलो करे सोशल मीडिया साईट पर, और प्रति-दिन फ्री में करंट आफिर्स, नोट्स पीडीऍफ़ प्राप्त करे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: कृपया उचित स्थान पर Click करे !!