French Revolution Important Question in Hindi

फ्रांस की क्रांति से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

0

French Revolution Important Question, (फ्रांस की राज्यक्रांति) से संबंधित बहुत ही महत्वपूर्ण तथ्यों को लेकर आए हैं, जो आपके आने वाले परीक्षाओं में बहुत ही उपयोगी सिद्ध होगा, हमारी टीम आपको विश्व इतिहास के सभी महत्वपूर्ण टॉपिक को उपलब्ध करा रहे हैं, जो आपके आने वाले SSC, Railway, UPSC परीक्षा उपयोगी है |

फ्रांस की क्रांति से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर को Collect कर के लेकर आए हैं जिस अक्सर UPSC, RRB, SSC जैसे परीक्षा में प्रश्न फसते हैं, इसलिए आप सभी विद्यार्थी अवश्य पढ़िए upsc question about french revolution in hindi

इसे अवश्य पढ़े : Chapter 1 – World History Renaissance Notes in Hindi (विश्व इतिहास पुनर्जागरण) 

इसे अवश्य पढ़े : Chapter 2 – World History | American Revolution Notes in Hindi

French Revolution Important Question in Hindi

Geography नोट्स डाउनलोड करे :-

 

French Revolution Important Question in Hindi
फ्रांस की राज्यक्रांति
  • फ्रांस की राज्यक्रांति 1789 ई. में लुई सोलहवाँ के शासनकाल में हुई। इस समय फ्रांस में सामन्ती व्यवस्था थी।
  • 14 जुलाई, 1789 ई. को क्रांतिकारियों ने बास्तील के कारागृह के फाटक को तोड़कर बंदियों को मुक्त कर दिया। तब से 14 जुलाई को फ्रांस में ‘राष्ट्रीय दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।
  • समानता, स्वतंत्रता और बंधुत्व का नारा फ्रांस की राज्यक्रांति की देन है।
  • “मैं ही राज्य हूँ और मेरे शब्द ही कानून है।” यह कथन है-लुई चौदहवाँ का।
  • वर्साय के शीश महल का निर्माण लुई चौदहवां ने करवाया था।
  • वर्साय को फ्रांस की राजधानी लुई चौदहवाँ ने बनाया था।
  • लुई सोलहवाँ 1774 ई. में फ्रांस की गद्दी पर बैठा।
  • लुई सोलहवाँ की पत्नी मेरी एंत्वा नेता ऑस्ट्रिया की राजकुमारी थी।
  • राष्ट्र की समाधि वर्साय का भड़कीला राजदरबार था।
  • लुई सोलहवाँ को देशद्रोह के अपराध में फांसी दी गई।
  • टैले एक प्रकार का भूमि-कर था।
  • फ्रांसीसी क्रांति में वाल्टेयर, मांटेस्क्यू एवं रूसो ने सर्वाधिक योगदान किया।
  • वाल्टेयर चर्च का विरोधी था।
  • रूसो फ्रांस में प्रजातंत्रात्मक शासन-पद्धति का समर्थक था।
  • “सौ चूहों की अपेक्षा एक सिंह का शासन उत्तम है” यह उक्ति वाल्टेयर की है।
  • सोशल कांट्रेक्ट रूसो की एवं लेटर्स ऑन इंगलिश वाल्टेयर की रचना है।
  • ‘कानून की आत्मा’ की रचना माँटेस्क्यू ने की थी।
  • स्टेट्स जनरल के अधिवेशन की शुरुआत 5 मई, 1789 ई० में हुई थी।
  • माप-तौल की दशमलव प्रणाली फ्रांस की देन है।
  • सांस्कृतिक राष्ट्रीयता का जनक हर्डर को कहा जाता है।
  • नेपोलियन का जन्म 15 अगस्त, 1769 ई० को कोर्सिका द्वीप की राजधानी अजासियो में हुआ था।
  • नेपोलियन के पिता का नाम कार्लो बोनापार्ट था।
  • नेपोलियन ने ब्रिटेन के सैनिक अकादमी में शिक्षा प्राप्त की।
  • 1796 ई० में नेपोलियन ने इटली में आस्ट्रिया के प्रमुख को समाप्त किया।
  • फ्रांस में डायरेक्टरी के शासन का अन्त 1799 ई० में हुआ।
  • नेपोलियन 1799 ई० में प्रथम कॉन्सल बना और 1802 ई० में जीवनभर के लिए कॉन्सल बना।
  • 1804 ई० में नेपोलियन फ्रांस का सम्राट् बना।
  • आधुनिक फ्रांस का निर्माता नेपोलियन को माना जाता है।
  • नेपोलियन ने ही सर्वप्रथम इंगलैंड को ‘बनियों का देश‘ कहा था।
  • नेपोलियन ने पत्नी जोजेफाइन को तलाक देकर आस्ट्रिया की राजकुमारी मोरिया लुइसा से शादी की।
  • ट्राल्फगर का युद्ध 21 अक्टूबर, 1805 ई० में इंगलैंड एवं नेपोलियन के बीच हुआ।
  • नेपोलियन ने बैंक ऑफ फ्रांस की स्थापना 1800 ई० में की।
  • नेपोलियन ने कानूनों का संग्रह तैयार करवाया, जिसे नेपोलियन का कोड कहा जाता है।
  • नेपोलियन को नील नदी के युद्ध में अंग्रेजी जहाजी बेड़े के नायक नेल्सन के हाथों बुरी तरह पराजित होना पड़ा।
  • यूरोप के राष्ट्रों ने मिलकर 1813 ई० में नेपोलियन को लिपजिग नामक स्थान पर हरा दिया और उसे बन्दी बनाकर एल्बा के टापू पर भेज दिया गया; परन्तु वह एल्बा से भाग निकला और पुनः फ्रांस का सम्राट बना।
  • अन्ततः मित्रराष्ट्रों की सेना ने नेपोलियन को 18 जून, 1815 ई० को वाटरलू के युद्ध में पराजित कर बन्दी बना लिया और उसे सेंट हेलना द्वीप पर भेज दिया। वहाँ 1821 ई० में उसकी मृत्यु हो गयी। नेपोलियन लिट्ल कारपोरल के नाम से जाना जाता है।
  • नेपोलियन के पतन का कारण था, उसका रूस पर आक्रमण करना।
  • इंग्लैंड के वाणिज्य एवं व्यापार का बहिष्कार करने के लिए नेपोलियन ने महाद्वीपीय व्यवस्था का सूत्रपात किया था।
  • विएना काँग्रेस समझौता के तहत यूरोप के राष्ट्रों ने 1815 ई० में फ्रांस के प्रभुत्व को समाप्त किया।

History नोट्स डाउनलोड करे :-

हमसे जुड़ें, हमें फॉलो करे
  • Telegram पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook ग्रुप ज्वाइन करे – Click Here

हमें फॉलो करे सोशल मीडिया साईट पर, और प्रति-दिन फ्री में करंट आफिर्स, नोट्स पीडीऍफ़ प्राप्त करे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: कृपया उचित स्थान पर Click करे !!