Hindi Diwas Essay 2020 (हिन्दी दिवस पर निबंध) in Hindi for Students

hindi diwas pdf download

0

Hindi Diwas Essay 2020 in Hindi: हिंदी दिवस प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को मनाया जाता है। इसे इसलिए मनाया जाता है क्योंकि भारत की संविधान सभा ने घोषणा की थी कि देवनागरी लिपि में लिखी जाने वाली हिंदी भारत गणराज्य की आधिकारिक भाषा होगी। बता दें कि 14 सितंबर 1949 को भारत गणराज्य की आधिकारिक भाषा के रूप में हिंदी को अपनाया गया था। इसे 26 जनवरी 1950 को भारत के संविधान द्वारा आधिकारिक भाषा के रूप में उपयोग करने का विचार था। 14 सितंबर को हिंदी को आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाने पर हर साल इस दिन को (हिंदी दिवस) के रूप में मनाया जाता है।

परिचय (introduction) (Hindi diwas essay 2020)

26 जनवरी 1950 को भारत के संविधान ने अनुच्छेद 343 के तहत देवनागरी लिपि में लिखी गई हिंदी को देश की आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया। इसके साथ ही भारत सरकार के स्तर पर आधिकारिक रूप से हिंदी और अंग्रेजी दोनों का इस्तेमाल होने लगा। हर साल हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता है क्योंकि इस तिथि को साल 1949 में भारत की संविधान सभा ने हमारी मातृभाषा हिंदी को राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया था।

हिंदी दिवस का महत्व :-

bal diwas 2020 को भारत की आधिकारिक भाषा बनने के दिन को मनाने के लिए मनाया जाता है। इसे हर साल इसलिए मनाया जाता है जिससे कि हिंदी के महत्व पर जोर दिया जाए। यह उस पीढ़ी को हिंदी के प्रति जागरूक करता है जो लोग अंग्रेजी से बहुत प्रभावित हैं और इसके पसंद करते हैं। यह युवाओं को यह याद दिलाता है कि वे भारत में पैदा हुए हैं और उनकी मूल भाषा हिंदी हैं।

हिंदी दिवस हर साल हमें अपनी असली पहचान याद दिलाता है और यह हमें देश के लोगों के साथ एकजुट करता है। हिंदी दिवस एक ऐसा दिन है जो हमें देशभक्ति की भावना से भर देता है।

Hindi Diwas Essay 2020 (हिन्दी दिवस पर निबंध) in Hindi for Students

आज के समय में ऐसा देखा जाता है कि लोग अंग्रेजी बोलने वाले को काफी ज्यादा महत्व देते हैं क्योंकि यह दुनिया भर में उपयोग किया जाता है और भारत की आधिकारिक भाषाओं में से एक है। लेकिन हिंदी दिवस का दिन हर किसी को यह याद दिलाता है कि हिंदी भी हमारी आधिकारिक भाषा है और उतना ही महत्व रखती है।

निष्कर्ष:-

अंग्रेजी एक ऐसी भाषा है जिसका इस्तेमाल पूरी दुनिया में किया जाता है और इसका भी हमारे देश भारत में काफी महत्व है। लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि हम पहले एक भारतीय हैं और हमारी भाषा सबसे पहले हिंदी है। हमें अपनी मूल भाषा का सम्मान करना चाहिए और इसका सम्मान करना चाहिए।

Hindi Diwas Essay in hindi for 500 words

परिचय (Introduction)

हिंदी दिवस को हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। यह हमारी हिंदी भाषा का सामान करने और भारतीय संस्कृति को संजोने का एक तरीका है। बता दें कि इसी दिन 1949 में, भारत की संविधान सभा द्वारा हिंदी को देश की आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया गया था।

हिंदी दिवस पर उत्सव :-

bal diwas को हर साल स्कूलों, कॉलेजों और कार्यालयों में बड़े ही सम्मान के साथ मनाया जाता है। यह दिन भारत में राष्ट्रीय स्तर पर भी मनाया जाता है जिसमें राष्ट्रपति ऐसे लोगों को पुरस्कार देते हैं जिन्होंने हिंदी भाषा से संबंधित किसी भी क्षेत्र में उत्कृष्टता हासिल की हो।

इस दिन भारत के विभिन्न स्कूलों और कॉलेजों में हिंदी दिवस पर निबंध और भाषण प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जाता है। इस मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं और शिक्षक हिंदी भाषा के महत्व पर जोर देने के लिए भाषण भी देते हैं। हिंदी दिवस पर बहुत से स्कूल हिंदी वाद-विवाद और कविता प्रतियोगिताओं की का आयोजन भी करते हैं। यह हिंदी भाषा को सम्मान देने का दिन है जिसका महत्व नई पीढ़ी के बीच कम होता जा रहा है। इस दिन को कार्यालयों और कई सरकारी संस्थानों में भी मनाया जाता है।

इस मौके पर संस्कृति का आनंद लेने के लिए लोग भारतीय परिधान पहनते हैं। इस दिन महिलाओं को सूट और साड़ी पहने देखा जा सकता है। इसके साथ ही बहुत से पुरुष भी कुर्ता पजामा पहने नजर आते हैं। हिंदी दिवस पर कई सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जिसमें लोग पूरे उत्साह से भाग लेते हैं। कई लोग हिंदी कविता सुअनाने के लिए भी आगे आते हैं और अपनी संस्कृति के अनुरूप रहने के महत्व के बारे में बात करते हैं।

भारत में सबसे ज्याद बोली जाने वाली भाषा है हिंदी (essay on hindi diwas in hindi)

हिंदी भारत में सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। भले ही बहुत से लोगो का अंग्रेजी के प्रति झुकाव है और स्कूलों और अन्य स्थानों पर इस भाषा पर ज्यादा महत्व दिया जाता है। लेकिन इसके बाद भी हिंदी हमारे देश में सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। साल 2001 में हुई जनगणना में, 422 मिलियन से अधिक लोगों ने हिंदी को अपनी मातृभाषा के रूप में बताया था।

भारत में हिंदी के अलावा किसी भी भाषा का उपयोग 10% से अधिक नहीं है। हिंदी बोलने वाली अधिकांश आबादी उत्तरी भारत में रहती है। भारत के राज्य मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, हरियाणा, राजस्थान और उत्तराखंड सहित कई भारतीय राज्यों की आधिकारिक भाषा है। बिहार भारत का पहला ऐसा राज्य है जिसमें हिंदी को एकमात्र आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया था। इसके अलावा भारत के अन्य हिस्सों में बंगाली, तेलुगु, और मराठी भाषा बोली जाती है।

निष्कर्ष :-

हिंदी दिवस एक ऐसा दिन है जो हमारी सांस्कृतिक जड़ों को फिर से जीवंत कर देता है। हिंदी हमारी मातृभाषा है और हमें इसका सम्मान करना चाहिए।

अवश्य पढ़िए :-

हमसे जुड़ें, हमें फॉलो करे
  • Telegram पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook ग्रुप ज्वाइन करे – Click Here

हमें फॉलो करे सोशल मीडिया साईट पर, और प्रति-दिन फ्री में करंट आफिर्स, नोट्स पीडीऍफ़ प्राप्त करे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: कृपया उचित स्थान पर Click करे !!