Hindi Matra Kaise Yaad kare | हिन्दी मात्रा कैसे पढ़े ? हिन्दी मात्रा सम्पूर्ण जानकारी.

0

Hindi Matra Kaise Yaad kare, Hindi Matra ko kaise samjhe , हिन्दी मात्रा कैसे पढ़े, हिन्दी मात्रा सम्पूर्ण जानकारी : अक्सर हमें हिन्दी बोलने में या हिन्दी पढने में काफी दिक्कत होती है, तो आज हम आपको हिन्दी मात्राओं के बाते में जानकारी देगे | जिन्हें आप सभी छात्र Follow करके अपनी हिन्दी बोलने में या हिन्दी पढने की समस्या को आसानी से दूर कर सकते है |

इन्हें पढ़े :-

Hindi Matra : 

मात्रा की परिभाषा : जब स्वरों का प्रयोग व्यंजनों के साथ मिलाकर किया जाता है , तब उनका स्वरूप बदल जाता है और उन्हे ‘ मात्रा ‘ कहते हैं । स्वरों की मात्राएँ उराहरण सहित नीचे दी गयी हैं । जिन्हें आप सभी अच्छे से याद कर लीजिये :-

What Is Quantity? Definition Of Quantity: When Vowels Are Used With Consonants, Their Form Changes, And They Are Called ‘Quanta’. The Volumes Of Vowels Are Given Below With Examples.

Hindi Matra Kaise Yaad kare | हिन्दी मात्रा कैसे पढ़े ? हिन्दी मात्रा सम्पूर्ण जानकारी.

What is Hindi Matra ?  हिंदी मात्रा किसे कहते हैं ?

  • दरअसल हिन्दी मात्रा स्वर ही होता है। स्वर और मात्रा के प्रयोग से व्यंजन का निर्माण होता है।
  • अतः मात्रा के बिना हिंदी शब्द भी नही लिख सकते इसका मतलब Hindi Matra का हिन्दी व्याकण में बहुत ज्यादा महत्ब है।
  • मात्राओं की संख्या 11 होती है।
  • वेसे तो Hindi Matra की संख्या  10 दश ही मानी जाती है। अगर पढ़ाई और परीक्षा की दृष्टि से हमे Hindi Matra 11 ही याद रखनी चाहिए ।

क्योकि ‘अ’ स्वर की मात्रा अलग रूप से नहीं लिख सकते हैं। इसलिए ‘अ’ स्वर को ‘उदासीन स्वर’ कहते हैं।

स्वर – मात्रा अ – उदासीन स्वर आ – ा इ – ि ई – ी उ – ु ऊ – ू ऋ – ृ ए – े ऐ – ै ओ – ो औ – ौ

इसे पढ़िए :-

Hindi Matra Examples |हिन्दी मात्रा उदाहरण सहित | 

Hindi Matra Examples

हिन्दी मात्रा उदाहरण सहित

Types of Hindi Matra (हिंदी मात्रा के प्रकार ) :

ह्रस्व (4) – अ, इ, उ, ऋ

इसे ( । ) चिन्ह के द्वारा दर्शाते हैं।

दीर्घ (7) – आ, ई, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ

इसे (S) चिन्ह के द्वारा दर्शाते हैं।

शब्दों मेँ मात्रा की संख्या गिनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण उदाहरण दिये गए हैं जिसे ध्यानपूर्वक पढ़ें ( To Count The Number Of Matra In Words, Some Important Examples Have Been Given, Which Should Be Read Carefully)

अवश्य पढ़िए :-

Hindi Matra स्वर और उनकी मात्रायें

स्वर मात्रा सन्धि
N/A क्+अ
(-T) क्+आ का
ि क्+इ कि
( ◌ी ) क्+ई की
( ◌ु) क्+उ कु
(◌ू) क्+ऊ कू
(◌ृ) क्+ऋ कृ
( ◌े) क्+ए के
(◌ै) क्+ऐ कै
(◌ो) क्+ओ को
(-◌ौ) क्+औ कौ
अं (◌ं) क्+अं कं
अ: ( : ) (विसर्ग) क्+अ: कः

Hindi Matra Name in Hindi 

Martra Name Sign/Matra Where Is It Used? Consonant Shapes Formed
AA (-T) क्+आ =का
I ि क्+इ = कि
II ( ◌ी ) क्+ई = की
U ( ◌ु) क्+उ = कु
UU (◌ू) क्+ऊ = कू
VOCALIC R (◌ृ) क्+ऋ = कृ
E ( ◌े) क्+ए =के
CANDRA E ( ॅ ) क्+ॅ= कॅ
AI (◌ै) क्+ऐ = कै
O (◌ो) क्+ओ = को
CANDRA O ( ॉ ) क्+औ = कौ
AU (-◌ौ) क्+अं =कं

Hindi Matra Kaise Yaad kare

हिन्दी मात्रा को याद करने के लिए सबसे पहले आप सभी छात्रों को हमारे दिए गए इस लेख को ध्यान पूर्वक अवश्य पढ़िए और उन्हें अच्छे दे देखिये की हमें किस वक्त किस मात्र का प्रयोग करना है और किस वक्त नहीं करना है इसलिए आप सभी विद्यार्थी हमारे दिए गए लेख को ध्यान पूर्वक अवश्य अच्छे से पढ़िए :-

इसे पढ़िए : – 

Rate this post
हमसे जुड़ें, हमें फॉलो करे
  • Telegram पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook ग्रुप ज्वाइन करे – Click Here

हमें फॉलो करे सोशल मीडिया साईट पर, और प्रति-दिन फ्री में करंट आफिर्स, नोट्स पीडीऍफ़ प्राप्त करे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.