World History Japani Samrajyavad se Sambandhit Question

जापानी साम्राज्यवाद से सम्बंधित प्रश्न उत्तर

0

Japanese imperialism important questions in hindi , Japani Samrajyavad se Sambandhit Question,  World History Japanese Imperialism Upsc Notes जापानी साम्राज्यवाद World History का विशेष Topic है, जो आपके आने वाले परीक्षा के लिए Help-full साबित हो सकता है | जो विध्यार्थी UPSC, IAS, SSC, RRB जैसे परीक्षा की तैयारी कर रहे है उन सभी विद्यार्थियों के लिए Important Notes है | World History Japani Samrajyavad Important Notes for UPSC…

World History विषय के सभी Chapter पढ़े :-

Japani Samrajyvad se Sambandhit Question

World History Japani Samrajyavad se Sambandhit Question
जापानी साम्राज्यवाद से सम्बंधित प्रश्न उत्तर
  • जापान के साम्राज्यवाद का सबसे पहला शिकार चीन हुआ।
  • 1863 ई. में एक अमेरिकी नाविक पेरी ने बल-प्रयोग कर जापान का द्वार अमेरिकी व्यापार के लिए खोला।
  • जापान में आधुनिकीकरण की प्रक्रिया की शुरुआत मूतसुहीतों ने की।
  • 1872 ई. में जापान में सैनिक सेवा अनिवार्य कर दी गई।
  • 1905 ई. में जापान ने रूस को हराया
  • जापान-रूस युद्ध की समाप्ति 5 सितम्बर, 1905 ई. को पार्ट्समाउथ की संधि के द्वारा हुई।
  • जापान ने 1931 ई. में अपनी साम्राज्यवादी आकांक्षाओं की पूर्ति के लिए मंचूरिया पर आक्रमण किया।
  • 20 मार्च, 1933 ई. को जापान ने राष्ट्रसंघ की सदस्यता त्याग दी।
  • पीत आतंक से जापान को संबोधित किया जाता था।
  • द्वितीय विश्वयुद्ध में जापान ने धुरी राष्ट्र का साथ दिया था।
  • अमेरिका ने जापान पर पहला अणु बम 6 अगस्त, 1945 ई. को हिरोशिमा पर गिराया था।
  • द्वितीय विश्वयद में 10 सितम्बर, 1945 ई. को जापान ने आत्मसमर्पण किया।
  • हिरोशिमा और नागासाकी पर अणु बम गिराये जाने के कारण जापान ने द्वितीय विश्वयुद्ध में आत्मसमर्पण किया था।

Geography नोट्स डाउनलोड करे :-

History नोट्स डाउनलोड करे :-

Polity नोट्स डाउनलोड करे :-

हमसे जुड़ें, हमें फॉलो करे
  • Telegram पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook ग्रुप ज्वाइन करे – Click Here

हमें फॉलो करे सोशल मीडिया साईट पर, और प्रति-दिन फ्री में करंट आफिर्स, नोट्स पीडीऍफ़ प्राप्त करे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: कृपया उचित स्थान पर Click करे !!