World History Renaissance Notes in Hindi (विश्व इतिहास पुनर्जागरण)

0

विश्व इतिहास पुनर्जागरण (World History Renaissance) के बारे महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कराएगे | जो आपके आने वाले विभिन्न प्रतियोगी परीक्षायों को लिए बहुत ही उपयोगी है, जैसे की UPSC SSC Railway इत्यादि.

World History Renaissance in Hindi पुनर्जागरण विश्व इतिहास सम्बंधित हम आपको आज महत्वपूर्ण जानकारी देगे, विश्व इतिहास पुनर्जागरण के Important Notes देगे, जो आपके परीक्षा के लिए बहुत ही उपयोगी साबित होगी |

Note- हम आपको प्रति-दिन World History के सभी Topic को Update करेगे | इसलिए आप सभी छात्र हमारे द्वारा प्राप्त कराएगे Topic को अच्छे से अवश्य पढ़िए .

अवश्य पढ़िए :-

World History Renaissance Notes in Hindi (विश्व इतिहास पुनर्जागरण)
विश्व इतिहास पुनर्जागरण

World History Renaissance Notes :-

  • पुनर्जागरण का प्रारंभ इटली के फ्लोरेंस नगर से माना जाता है।
  • इटली के महान कवि दॉते (1260-1321 ई०) को पुनर्जागरण का अग्रदूत माना जाता है। इनका जन्म फ्लोरेन्स नगर में हुआ था।
  • दॉते ने प्राचीन लैटिन भाषा को छोड़कर तत्कालीन इटली की बोल-चाल की भाषा ‘टस्कन’ में ‘डिवाइन कॉमेडी’ नामक काव्य लिखा। इसमें दाँते ने स्वर्ग और नरक की एक काल्पनिक यात्रा का वर्णन किया है।
  • दाँते के बाद पुनर्जागरण की भावना का प्रश्रय देनेवाला दूसरा व्यक्ति पेट्रॉक (1304-1367ई०) था।
  • पेट्रॉक को मानववाद का संस्थापक माना जाता है। वह इटली का निवासी था।
  • इटालियन गद्य का जनक कहानीकार बोकेशियो (सन् 1313-1375 ई०) को माना जाता है।
  • कहानीकार बोकेशियो की डेकामेरॉन (Decameron) प्रसिद्ध पुस्तक है।
  • आधुनिक विश्व का प्रथम राजनीतिक चिन्तक फ्लोरेंस निवासी मैकियावेली (1469-1567 ई०) को माना जाता है।
  • मैकियावेली की प्रसिद्ध पुस्तक है : द प्रिन्स, जो राज्य का एक नवीन चित्र प्रस्तुत करती है।
  • आधुनिक राजनीतिक दर्शन का जनक मैकियावेली को कहा जाता है।
  • पुनर्जागरण की भावना की पूर्ण अभिव्यक्ति इटली के तीन कलाकारों की कृतियों में मिलती है। ये कलाकार थे-लियोनार्दो द विंची, माइकेल एंजेलो और राफेल
  • लियोनार्दो द विंची एक बहुमुखी प्रतिभासम्पन्न व्यक्ति था। वह चित्रकार, मूर्तिकार, इंजीनियर,वैज्ञानिक, दार्शनिक, कवि और गायक था।
  • लियोनार्दो द विंची ‘द लास्ट सपर’ और ‘मोनालिसा’ नामक अमर चित्रों के रचयिता होने के कारण प्रसिद्ध है।
    माइकल एंजेलो भी एक अद्भुत मूर्तिकार एवं चित्रकार था।
  • ‘द लास्ट जजमेंट’ एवं ‘द फाल ऑफ मैन’ माइकल एंजलो की कृतियाँ हैं।
  • सिस्तान के गिरजाघर की छत में माइकल एंजेलो के द्वारा ही चित्र बनाये गये हैं।
  • रॉफल भी इटली का एक चित्रकार था, इसकी सर्वश्रेष्ठ कृति जीसस क्राइस्ट की माता मेडोना का चित्र है।
  • पुनर्जागरण काल में चित्रकला का जनक जियाटो को माना जाता है।
  • पुनर्जागरण काल का सर्वश्रेष्ठ निबंधकार इंग्लैंड का फ्रांसिस
  • हॉलैंड के इरासमस ने अपनी पुस्तक द प्रेज आफ फीली में व्यंग्यात्मक ढंग से पादरियों के अनैतिक जीवन एवं ईसाई धर्म की कुरीतियों पर प्रहार किया है।

Geography नोट्स डाउनलोड करे :-

विश्व इतिहास पुनर्जागरण महत्वपूर्ण तथ्य :-

  • इंग्लैंड के लेखक टॉमस मूर ने अपनी पुस्तक यूटोपिया में आदर्श समाज का चित्र प्रस्तुत किया है।
  • मार्टिन लूथर ने जर्मन भाषा में बाइबिल का अनुवाद प्रस्तुत किया है।
  • ‘रोमियो एण्ड जुलियट’ शेक्सपीयर (इंग्लैंड) की अमर कृति है।
  • इंग्लैंड के रोजर बेकन को आधुनिक प्रयोगात्मक विज्ञान का जन्मदाता माना जाता है।
  • पृथ्वी सौरमंडल का केन्द्र है: इसका खंडन सर्वप्रथम पोलैंड निवासी कोपरनिकस ने किया।
  • गैलीलियो (1560-1642 ई.) ने भी कोपरनिकस के सिद्धान्त का समर्थन किया।
  • जर्मनी के प्रसिद्ध वैज्ञानिक केपला या केपलर (1571-1630 ई.) ने गणित की सहायता से यह बतलाया कि ग्रह सूर्य के चारों ओर किस प्रकार घूमते हैं।
  • न्यूटन (1642.1726 ई.) ने गुरुत्वाकर्षण के नियम का पता लगाया।
  • धर्म-सुधार आन्दोलन की शुरुआत 16वीं सदी में हुई।
  • धर्म-सुधार आन्दोलन का प्रवर्तक मार्टिन लूथर था, जो जर्मनी का रहनेवाला था। इसने बाइबिल का अनुवाद जर्मन भाषा में किया।
  • धर्म सुधार आन्दोलन की शुरुआत इंग्लैंड में हुई।
  • जॉन विकलिफ को धर्म सुधार आन्दोलन को प्रातःकालीन तारा कहा जाता है। इसके अनुयायी लोलाड्रर्स कहलाते थे।
  • अमेरिका की खोज क्रिस्टोफर कोलम्बस ने की थी।
  • अमेरिगो बेस्पुसी (इटली) के नाम पर अमेरिका का नाम अमेरिका पड़ा।
  • प्रशान्त महासागर का नामकरण स्पेन निवासी मैगलन ने किया।
  • समुद्री मार्ग से सम्पूर्ण विश्व का चक्कर लगाने वाला प्रथम व्यक्ति मैगलन था।

 इसे पढ़िए :-

<center>हमसे जुड़ें, हमें फॉलो करे</center>
  • Telegram पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook ग्रुप ज्वाइन करे – Click Here

हमें फॉलो करे सोशल मीडिया साईट पर, और प्रति-दिन फ्री में करंट आफिर्स, नोट्स पीडीऍफ़ प्राप्त करे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: कृपया उचित स्थान पर Click करे !!