History of Turkey in Hindi | Turkey Revolution Related Questions

तुर्की क्रांति से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

0

Turkey Revolution Related Questions in Hindi , History of Turkey in Hindi तुर्की क्रांति से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर जिनसे अक्सर आने वाले आगामी प्रतियोगी परीक्षा में प्रश्न पूछे जाएंगे turkish revolution 1923 , questions and answers about turkey revolution इत्यादि

जो विद्यार्थी आईएएस पीसीएस एसएससी रेलवे जैसे परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं उन सभी विद्यार्थियों के लिए तुर्की के इतिहास को पढ़ना आवश्यक है इन टॉपिक से अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओं में दो से चार नंबर के प्रश्न पूछे जाते हैं इसलिए आप सभी छात्र turkey revolution related questions and answers अवश्य अच्छे से पढ़ ले :-

World History विषय के सभी Chapter पढ़े :-

History of Turkey in Hindi :-

History of Turkey in Hindi | Turkey Revolution Related Questions
तुर्की क्रांति
  • तुर्की को ‘यूरोप का मरीज’ कहा जाता था।
  • पान इस्लामिज्म का नारा अब्दुल हमीद द्वितीय ने दिया था।
  • यवा तुर्क आन्दोलन की शुरुआत अब्दुल हमीद द्वितीय के शासनकाल में 1908 ई. में हुई।
  • प्रथम विश्वयुद्ध के बाद तुर्की के साथ भीषण अपमानजनक संधि सेब्र की संधि 10 अगस्त, 1920 ई. को की गयी। मुस्तफा कमाल पाशा ने इसे मानने से इनकार कर दिया।
  • आधुनिक तुर्की का निर्माता मुस्तफा कमाल पाशा को माना जाता है। इसे ‘अतातुर्क’ (तुर्की का पिता) के उपनाम से भी जाना जाता है।
  • मुस्तफा कमाल पाशा का औपचारिक जन्म तिथि 19मई 1881 ई. में सेलेनिका में हुआ था। इसके पिता का नाम अली रजा (Ali Riza) था |
  • तुर्की में एकता और प्रगति समिति का गठन 1889 ई. में हुआ ।
  • प्रारंभ में कमाल पाशा एकता और प्रगति समिति के प्रभाव में आया।
  • एक सेनापति के रूप में कमाल पाशा ने गल्लीपोती युद्ध में शानदार सफलता हासिल की। इसके बाद 1919 ई. में कमाल पाशा ने सैनिक पद से इस्तीफा दे दिया।
  • 1919 ई. के अखिल तुर्क काँग्रेस के प्रथम अधिवेशन की अध्यक्षता मुस्तफा कमाल पाशा ने की। 1923 ई. में तुर्की एवं यूनान के बीच में लोजान की संधि हुई।
  • 23 अक्टूबर, 1923 ई. को तुर्की गणतंत्र की घोषणा हुई।
  • कमाल पाशा ने तुर्की में 3 मार्च, 1924 ई. को खिलाफत को समाप्त कर दिया।
  • 20 अप्रैल, 1924 ई. को तुर्की में नये संविधान की घोषणा हुई।
  • तुर्की के नये गणतंत्र का राष्ट्रपति मुस्तफा कमाल पाशा हुआ ।
  • रिपब्लिकन पीपुल्स पार्टी का संस्थापक मुस्तफा कमाल पाशा था।
  • मुस्तफा कमाल पाशा द्वारा किये गये महत्वपूर्ण कार्य निम्न हैं :-
  • 1932 ई. में तुर्की भाषा परिषद की स्थापना।
  • 1933 ई. में तुर्की में प्रथम पंचवर्षीय योजना का लागू होना।
  • 1924 ई. में तुर्की को धर्मनिरपेक्ष राज्य की घोषणा।
  • इस्ताम्बुल में एक मेडिकल कॉलेज की स्थापना।
  • ग्रेगोरियन कैलेडर का प्रचलन (26 दिसम्बर, 1925 ई. से लागू)।
  • इस्ताम्बुल का पुराना नाम कुस्तुनतुनिया था।
  • 25 नवम्बर, 1925 ई. को तुर्की में टोपी और औरतों को बुरका पहनने पर कानूनी प्रतिबंध लगाया गया।
  • कमाल पाशा की मृत्यु 1938 ई. में हो गयी।

Geography नोट्स डाउनलोड करे :-

History नोट्स डाउनलोड करे :-

Polity नोट्स डाउनलोड करे :-

Rate this post
हमसे जुड़ें, हमें फॉलो करे
  • Telegram पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook ग्रुप ज्वाइन करे – Click Here

हमें फॉलो करे सोशल मीडिया साईट पर, और प्रति-दिन फ्री में करंट आफिर्स, नोट्स पीडीऍफ़ प्राप्त करे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.